Breaking

Wednesday, June 26, 2019

Door bell connection AC and DC current and multiple in Hindi

Doorbell का कनेक्शन कैसे किया जाता है एक स्वीट से दो डोर बेल या मल्टीपल
डोर बेल का कनेक्शन कई तरह से किया जाता है  डोर बेल जिसे कॉल बेल भी कहा जाता है इसका उपयोग ज्यादातर घरों में दरवाजे के पास स्विच लगाया जाता है और घर के अंदर डोरबेल घंटी लगाया जाता है जब भी कोई व्यक्ति आता है तो उस चीज को दबाता करता है जिसके पता चलता है कि कोई व्यक्ति बाहर आया हुआ है और हॉस्पिटल में भी इस्तेमाल किया जाता है और भी बहुत तरह के जरूरत के हिसाब से इसका इस्तेमाल किया जाता है 

जिसमें इस को ऑन ऑफ करने के लिए एक स्विच लगता है

और एक डोर बेल होता है जरूरत के हिसाब से कई डोरबेल लगाया जाता है

(1) एक डोर बेल होता है जो सिर्फ एसी पावर सप्लाई पर काम करता है जो लगभग 220 वोल्ट से 240 वोल्ट तक प्रॉपर तरह से वर्क करता है जिसमें किसी भी तरह का सेल यानी बैटरी नहीं लगता है उसमें न्यूट्रल करेंट डोरबेल में डायरेक्ट कनेक्शन कर दिया जाता है और फेस करेंट को बिल्कुुुल स्विच के थ्रू कनेक्शन किया जाताा है जैसे नीचे दिखाए गए डायग्राम को अच्छी तरह से देखिए और समझिए इस तरह से कनेक्शन किया जाता है इसमें सिर्फ एक स्विच एक डोर बेल का कनेक्श वायरिंग किया गया है 

(2) एक डोर बेल होता है जो सिर्फ डीसी पावर सप्लाई करंट पर वर्क करता है जिसमें नेगेटिव और पॉजिटिव और सप्लाई डीसी का होता है जिसका कनेक्शन नेगेटिव जिसे माइनस बी करते हैं वह डायरेक्ट डोर बेल के एक वायर में कनेक्ट हो जाता है और दूसरा पॉजिटिव करंट जिसे पलस भी कहा जाता है वह स्विच के थ्रू जाता है नीचे दिए गए डायग्राम यानी ड्राइंग में अच्छी तरह से देखिए और समझिए जिसमें एक बेल पुश स्विच और एक डोर बेल का कनेक्शन किया गया है
(3) एक डोर बेल होता है जो किसी भी पावर सप्लाई करंट से नहीं चलता है चलने के लिए तो डीसी पावर सप्लाई पर काम करता है और एक डोर बेल होता है एसी और डीसी दोनों पावर सप्लाई पर काम करता है पर इसमें किसी भी तरह का पावर करंट नहीं दिया जाता है और इसका कनेक्शन किया जाता है जनरल ही ज्यादातर या कनेक्शन होता है जो बिना किसी करंट के चलता है पर डोरबेल के अंदर सेल यानी बैटरी लगा हुआ रहता है जिसका कनेक्शन नीचे दिए गए डायग्राम को देखिए समझिए ज्यादातर जनरली यही कनेक्शन होता है

(4) कुछ जगहों पर कुछ जरूरत के हिसाब से एक स्विच से दो डोर बेल का कनेक्शन किया जाता है यह ज्यादातर एक डोर बेल रूम में होता है दूसरा डोरबेल किसी दूसरे फ्लोर या छत या सीडी अन्य जगह पर रहता है इसलिए क्योंकि अगर कोई व्यक्ति एक घर में रहता है और वह ज्यादातर इधर उधर रहता है जैसे छत पर या दूसरे फ्लोर पर जहां पर वह चाहता है कि डोरबेल हमारा वहां पर भी बजे एक ही स्विच रहता है जो मेन दरवाजेेे के पास लगा हुआ रहता है घर के बाहर  जिसका कनेक्शन आप डोरबेल सिर्फ डीसी या एसी एंड डीसी दोनों करंट पर चलने वालाा लगाते है तो वहां पर कनेक्शन सीरीज करना होगा जैसे नेगेटिव टो पॉजिटिव एक डोर बेल से दूसरे डोर बेल तक अगर वायर उल्टा हो जाए तो काम नहीं करेगा जैसे नीचे दिए गए डायग्राम को देखिए और अच्छी तरह से समझाइए जिसमें आपका दो डोरबेल है और एक स्विच DC
(5) और कुछ जगहों पर सिर्फ डोरबेल एसी पावर सप्लाई से चलता है जहां पर एक स्विच और दो डोरबेल होता है पर वहां पर अगर एक वायर चेंज हो जाए तो भी प्रॉपर तरह से काम करता है जैसे एक डोर बेल से दूसरे डोरबेल में जो सीरीज किया जाता है डीसी में उल्टा हो जाए तो काम नहीं करेगा पर यहां पर काम कर जाता है फिर भी कनेक्शन सही तरह से करना चाहिए जैसे नीचे दिए गए डायग्राम ड्रिंक को देखिए और समझिए इसमें एसी पावर सप्लाई से दो डोरबेल एक स्विच से कंट्रोल का कनेक्शन है
(6) और एक होता है जो जनरल किसी भी पावर सप्लाई करंट का इस्तेमाल नहीं किया जाता है और उसका कनेक्शन एक स्विच से दो डोर बेल का किया जाता है जो डोरबेल सिर्फ डीसी होता है या एसी डीसी दोनों पर वर्क करता है इसके अंदर बैटरी लगा हुआ रहता है जिसके लिए सिर्फ उस बैटरी से इसको पावर करंट मिल जाता है और यह प्रॉपर तरह से काम करता है जैसे नीचे दिए गए डायग्राम को देखिए और इस तरह से वायरिंग कर सकते हैं और कनेक्शन कर सकते हैं
अगर आप वीडियो के माध्यम से देखना चाहते हैं जिसमें आपको प्रैक्टिकल कनेक्शन करके और चेक करके दिखलाया गया है

यहाँ पर किलिक कीजिए

अगर आप और भी इलेक्ट्रिकल से जुड़ी हुई जानकारी चाहते हैं तो हमारे यूट्यूब चैनल पर जाए

Electric work center

EWC Electricals


Like 
Share
👍👍👍

No comments:

Post a Comment